Tuesday, December 6, 2022
Home उत्तराखंड निधि उनियाल नहीं स्वास्थ्य सचिव पर हो कार्रवाई, सोशल मीडिया में आई...

निधि उनियाल नहीं स्वास्थ्य सचिव पर हो कार्रवाई, सोशल मीडिया में आई सुनामी

देहरादून: उत्तराखंड के दून मेडिकल कॉलेज की एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर निधि उनियाल इन दिनों सुर्खियों में हैं। हों भी क्यों न, पूरा उत्तराखंड निधि उनियाल के पक्ष में खड़ा है।

दरअसल दून मेडिकल कॉलेज की एसोसिएट प्रोफेसर निधि उनियाल ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने इस्तीफा देने के साथ ही स्वास्थ्य सचिव की पत्नी पर गंभीर आरोप भी लगाये हैं। दून मेडिकल कॉलेज की एसोसिएट प्रोफेसर निधि उनियाल ने उत्तराखंड के स्वास्थ्य सचिव पंकज पांडेय की पत्नी पर गंभीर आरोप लगाया है।

आरोप है कि स्वास्थ्य सचिव की पत्नी ने उन्हें अपने घर बुलाकर उनके साथ बदतमीजी की, फिर माफी मांगने का दबाव बनाया और उसके बाद उनके पति पंकज पांडे ने उनका ट्रांसफर अल्मोड़ा कर दिया। इसीलिए वे अपने पद से इस्तीफा दे रही हैं। डॉ. निधि उनियाल राजकीय दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में वरिष्ठ फिजिशियन एवं एसोसिएट प्रोफेसर हैं। उन्होंने बताया गुरुवार को वह अस्पताल में अपनी ओपीडी में मरीजों को देख रही थीं।

इसी दौरान अस्पताल प्रशासन ने उन्हें स्वास्थ्य सचिव डॉ. पंकज पांडेय की पत्नी की तबीयत जांचने उनके घर जाने के लिए कहा। मरीजों की भीड़ देखते हुए एक बार डॉ. निधि ने कहा कि वे नहीं जा सकतीं लेकिन अस्पताल प्रशासन ने कहा कि वहां उनका जाना जरूरी है। इस पर डॉ. निधि अपने दो मेडिकल स्टाफ के साथ उनके घर पहुंची।

सचिव की पत्नी की जांच करने के बाद डॉक्टर ने उनको जरूरी परामर्श दिया। उसके बाद डॉ. निधि ने ब्लड प्रेशर जांचने की भी बात कही। डॉ. निधि ने बताया कि बीपी इंस्ट्रूमेंट बाहर कार में छूट गया था, जिसे लेने उन्होंने स्टाफ को भेजा। आरोप है कि इस बीच स्वास्थ्य सचिव पंकज पांडे की बीवी ने उनके साथ अभद्रता की और बदतमीजी भी की इस दौरान दोनों के बीच काफी बहस हुई। डॉ. निधि उनियाल इस पर आपत्ति जताते हुए अपने स्टाफ के साथ अस्पताल लौट गईं। डॉ. निधि ने बताया कि अस्पताल प्रशासन ने उन्हें सचिव की पत्नी से माफी मांगने के लिए कहा।

इस पर आपत्ति जताते हुए डॉ. निधि ने कहा उनकी कोई गलती नहीं है तो वह क्यों माफी मांगें। इसके बाद डॉ. निधि मेडिकल कॉलेज में क्लास में पढ़ाने चली गईं। इधर विवाद के बीच स्वास्थ्य सचिव पंकज पांडेय ने उन्हें तत्काल उन्हें सोबन सिंह जीना राजकीय आयुर्विज्ञान व शोध संस्थान अल्मोड़ा जॉइन करने के आदेश जारी कर दिए। उधर विवाद के बाद डाक्टर निधि उनियाल ने पद से इस्तीफा दे दिया। उनके अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज में संबद्ध किये जाने के आदेश पहुँच गए हैं। घटना के बाद चिकित्सकों में रोष व्याप्त है।

डॉक्टर निधि का कहना है कि वह एक क्वालीफाइड डॉक्टर हैं। वे देश के कई प्रतिष्ठित मेडिकल कॉलेजों में रह चुकी हैं। पहले तो सरकारी अस्पताल में मरीजों को छोड़कर किसी के घर पर जाकर देखना उनका कार्य नहीं है। इसके बावजूद वह अस्पताल प्रशासन के कहने पर सचिव की पत्नी को देखने उनके घर गईं। डॉ. निधि ने आरोप लगाया कि वहां उनके साथ अभद्र व्यवहार किया गया, जिसका विरोध करने पर उनका तबादला किया गया है।

वहीं इस पूरी घटना के बाद स्वास्थ्य सचिव पंकज पांडे और उनकी पत्नी के ऊपर सोशल मीडिया पर तमाम आरोप लगाए जा रहे हैं और डॉक्टर निधि उनियाल के सपोर्ट में सोशल मीडिया पर कई लोग उतर आए हैं। वहीं यह बात मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी तक भी पहुंच गई है और पुष्कर सिंह धामी ने उनके तबादले को रद्द करने के आदेश जारी कर दिए हैं।

Hill Livehttps://hilllive.in
Hilllive.in पर उत्तराखंड के नवीनतम और ब्रेकिंग हिंदी समाचार पढ़ें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here