युवक को अधमरा कर अमीर शहजादा मौके से फरार, युवक के पिता ने पुलिस की जांच पर उठाये सवाल

Ankur Singh

देहरादून। पहाड़ से रोजी-रोटी की तलाश में देहरादून आये नौजवान को देहरादून में एक अमीर शहजादे की बदतमीजी का विरोध करना भारी पड़ गया। अमीर शहजादे को इस नौजवान का विरोध इतना नागवार गुजरा कि उसने इस नौजवान को बेसबॉल के डंडे से इतना पीटा की अब वो नौजवान महंत इन्दिरेश अस्पताल में जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहा है। लेकिन आरोपी अमीर शहजादे को अभी तक दून पुलिस तलाश नहीं कर पाई है।

ये नौजवान कुछ सपनों को ले कर चमोली जिले से देहरादून आया और नौकरी करने लगा। वाकिया बीते 25 नवम्बर का है। नौजवान विपिन रावत अपने कुछ दोस्तों के साथ रात्रि भोज के लिए एक रेस्तरां में गया। रेस्तरां भी जिले पुलिस कप्तान दफ्तर के बिल्कुल सामने सड़क पार करके। शराब के नशे में धुत्त एक अमीर शहजादे ने जब विपिन के साथ में भोज कर रही मित्रों पर अभद्र टिप्पणी का विरोध दर्ज किया तो उसने गाड़ी से बेसबॉल का डंडा निकाल और ताबड़तोड़ विपिन के सर पर वार कर दिये। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी कार संख्या यूके-07-डीडी-5800मौके से फरार हो गया। विपिन आज महंत इंद्रेश हॉस्पिटल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा है। उसकी स्थिति बड़ी नाजुक बनी हुई है।

पीड़ित विपिन का परिवार ब्रदीपुर केदारपुरम् में किराये के मकान में अपने परिवार के साथ रहता है। विपिन के पिता अव्वल सिंह रावत असम राइफल में हैं। इस घटना की शिकायत विपिन के पिता ने लक्खीबाग पुलिस चौकी में दर्ज कराई है। पर लाचार और बेबस मित्र पुलिस अभी तक आरोपी अमीर शहजादेे को ढूंढ कर नहीं ला पाई है।

खास बात ये है कि घटना स्थल का रिकार्ड वीडियो में आरोपी अमीर शहजादा और उसकी गाड़ी का नम्बर साफ-साफ दिखाई दे रहा है। लेकिन मामले में कच्छप गति से जांच कर रही मित्र पुलिस अभी तक आरोपी तक नहीं पहुंच पाई है। जो मित्र पुलिस की भूमिका पर कई सवालिया निशान खड़े करता है।

अब पीड़ित विपिन रावत के पिता ने जांच में हीलाहवाली किये जाने पर लक्खी पुलिस चौकी इंचार्ज की भूमिका पर सवालिया निशान लगाते हुए जिले के पुलिस कप्तान से न्याय की गुहार लगाई है।

Share This Article
Follow:
Ankur Singh is an Indian Journalist, known as the Senior journalist of Hill Live
Leave a comment