Tuesday, November 29, 2022
Home चमोली कर्फ्यू में बद्रीनाथ धाम पहुंचे भाजपा नेता, सोशल मीडिया पर फोटो वायरल...

कर्फ्यू में बद्रीनाथ धाम पहुंचे भाजपा नेता, सोशल मीडिया पर फोटो वायरल हुई तो बवाल मच गया

कर्फ्यू में बद्रीनाथ धाम पहुंचे भाजपा नेता, सोशल मीडिया पर फोटो वायरल हुई तो बवाल मच गया

चारधाम यात्रा कोरोना काल में बंद है। सरकार ने एक एसओपी जारी करते हुए कहा था कि संक्रमण के खतरे को देखते हुए चारधाम यात्रा को स्थगित करने का फैसला किया गया है। इस दौरान धाम के पुजारी ही मंदिरों में पूजा कर सकेंगे।

दूसरों को मंदिर में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी, लेकिन ऐसा लगता है कि यह नियम केवल आम लोगों के लिए है। रसूखदार लोग हर नियम-कायदे को ताक पर रख ठसक से चारधाम यात्रा पर पहुंच रहे हैं। उन्हें मंदिर में पूजा करने से भी नहीं रोका जाता है। हाल ही में कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत और बीजेपी के कुछ नेता बद्रीनाथ धाम पहुंचे और पूजा-अर्चना की।

अब इस पर तीर्थ पुरोहित और कांग्रेस नेताओं ने आपत्ति जताई है। उन्होंने इसे कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन बताते हुए सरकार पर निशाना साधा। शनिवार शाम को उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत कुछ भाजपा नेताओं के साथ बद्रीनाथ धाम पहुंचे, इस मुद्दे पर कांग्रेस ने राज्य सरकार को घेर लिया है।

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि एसओपी के मुताबिक यात्रियों को चारधाम यात्रा पर जाने से रोका जा रहा है। सीमित संख्या में तीर्थयात्रियों को भी धाम भेजा गया है। स्थानीय लोग भी भगवान के दर्शन नहीं कर पाए, लेकिन कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत भाजपा नेताओं के साथ बद्रीनाथ धाम गए। कांग्रेस ने इसे कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन बताया। चमोली जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. अदन सिंह रावत 19 मई से जिले के दौरे पर हैं।

शनिवार को उन्होंने उरगाम घाटी में लोगों की समस्याएं सुनी। इसके बाद वे भाजपा जिलाध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट और चमोली जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह बिष्ट के साथ बद्रीनाथ धाम पहुंचे। यहां धाम में मंत्री ने भाजपा नेताओं के साथ फोटो खिंचवाई। सोशल मीडिया पर जब ये फोटो वायरल हुई तो बवाल मच गया। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि बीजेपी के मंत्री खुद कोरोना गाइडलाइंस का उल्लंघन कर रहे हैं।

धाम पहुंचे भाजपा के कुछ नेताओं ने मास्क भी नहीं पहना, यह घोर लापरवाही है। वहीं तीर्थ पुरोहित आशुतोष का कहना है कि शासन-प्रशासन ने उन्हें धाम जाने की अनुमति नहीं दी। हमें पांडुकेश्वर से वापस भेज दिया गया। ऐसे में भाजपा नेताओं को धाम जाने की इजाजत कैसे दी गई। सत्ताधारी बीजेपी के नेता खुद गाइडलाइंस का उल्लंघन कर रहे हैं, लेकिन उन्हें रोकने वाला कोई नहीं है।

Uttarakhand : पहले ठेके से चोरी की शराब फिर ब्लैक में लोगों को बेची, 3 शातिर चोर गिरफ्तार

Hill Livehttps://hilllive.in
Hilllive.in पर उत्तराखंड के नवीनतम और ब्रेकिंग हिंदी समाचार पढ़ें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here