Saturday, December 3, 2022
Home उत्तरकाशी चारधाम यात्रा स्थगित, लेकिन कपाट तय समय पर खुलेंगे

चारधाम यात्रा स्थगित, लेकिन कपाट तय समय पर खुलेंगे

कोरोना के अधिक मामले को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने चारधाम यात्रा को स्थगित कर दिया है, हालांकि मंदिरों के कपाट समय पर खोले जाएंगे। मई में गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने वाले हैं। गौरतलब है कि हेमकुंड साहिब की धार्मिक यात्रा पहले भी स्थगित हो चुकी है।

चारधाम यात्रा के लिए गुरुवार को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत द्वारा एक बैठक बुलाई गई थी, जिसमें पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज भी मौजूद थे। इस बैठक में, कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए 2021 में चारधाम यात्रा को स्थगित करने का निर्णय लिया गया। मंदिरों में पूजा-अर्चना होगी, लेकिन किसी भी श्रद्धालुओं को जाने की अनुमति नहीं होगी।

उत्तराखंड में चार धामों के कपाट खोलने की तिथि घोषित कर दी गई है। उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री धाम के कपाट 15 मई को खुलेंगे। अक्षय तृतीय, मिथुन लगन का शुभ मुहूर्त, सुबह 7:30 बजे भक्तों के दर्शन कपाट से खोला जाएगा।

माँ गंगा का उत्सव डोली 14 मई को प्रातः 11:45 बजे अपने शीतकालीन सोजून मुखबा गाँव से पवित्र धाम के कपाट खुलने के लिए गंगोत्री धाम के लिए प्रस्थान करेगी। बता दें कि चैत्र नवरात्रि के मौके पर गंगोत्री तीर्थ पुरोहित ने गंगोत्री धाम के कपाट खुलने के लिए शुभ मुहूर्त निकाला।

विश्व प्रसिद्ध केदारनाथ धाम के द्वार 17 मई को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। केदारनाथ रावल ने ऊखीमठ के ओंकारेश्वर मंदिर में पंचकेदार गद्दी स्थल की घोषणा की है। प्राचीन परंपरा के अनुसार, हर साल महाशिवरात्रि के दिन, ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में केदारनाथ मंदिर का उद्घाटन किया जाता है। केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के लिए 13 मई को भगवान भैरवनाथ की पूजा की जाएगी।

बाबा केदार की चलित देवता डोली सबसे पहले उखीमठ से प्रस्थान करेगी और 14 मई को फाटा विश्राम के लिए पहुंचेगी। जबकि 15 मई को गौरीकुंड और 16 मई को केदारनाथ धाम पहुंचेंगे, जहां 17 मई को सुबह 5 बजे भगवान केदारनाथ मंदिर के कपाट खोले जाएंगे।

Hill Livehttps://hilllive.in
Hilllive.in पर उत्तराखंड के नवीनतम और ब्रेकिंग हिंदी समाचार पढ़ें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here