उत्तराखंड के जंगलों को धधकता छोड़ वापस लौट गए हेलीकॉप्टर

Ankur Singh

उत्तराखंड के जंगलों को धधकता छोड़ वापस लौट गए हेलीकॉप्टर

उत्तराखंड में धधकते जंगलों की आग बुझाना छोड़ वायुसेना के दोनों हेलीकॉप्टर वापस लौट गए हैं। कुमाऊं मंडल में तो हेलीकॉप्टर आग बुझाने के लिए एक राउंड भी नहीं लगा पाया। राज्य के जंगलों में भड़क रही आग पर काबू पाने के लिए मुख्यमंत्री तीरथ रावतने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से दो हेलीकॉप्टर और एनडीआरएफ के जवान भेजने का आग्रह किया था केंद्र ने चार अप्रैल को दो हेलीकॉप्टर भेजे, इनमें एक गढ़वाल तो दूसरा कुमाऊं मंडल में आग बुझाने के लिए तैनात किया गया।

गढ़वाल में तैनात हेलीकॉप्टरने टिहरी झील से पानी लेकर जंगलों में आग बुझाने के लिए छह राउंड जरूर लिए, लेकिन कुमाऊं मंडल के लिए मिला हेलीकॉप्टर एक भी उड़ान नहीं भर पाया। मुख्य वन संरक्षक (फोरेस्ट फायर) मान सिंह ने बताया कि जंगलों की आग काफी हद तक काबू में आने पर तीन दिन बाद इन्हें वापस भेज दिया है। अलबत्ता, एनडीआरएफ की तीन टुकड़ियां अभी भी नैनीताल, यूएसनगर और पौड़ी में तैनात की गई हैं।

गैरसैंण में चीड़ के जंगल में लगी आग गैरसैंण।

आबादी के निकट बने तहसील परिसर के बाहर चीड़ के जगल में रविवार दोपहर को अचानक आग लग गयी। तेज गर्मी एवं हवा चलने के कारण आगतेजी से परिसरके बाहरफैल गयी। सूचनापर तहसील कर्मियों, पुलिस एवं फायर ब्रिगेड़ की मदद से आग को बुझाया गया।

आग लगने के कारण तहसील की जनरेटर की केबिल जल गयी हालांकि परिसर में बाहर विद्युत ट्रांसफार्मर को आग से बचा लिया गया। आग बुझाने वालों में एनटी राकेश पल्‍लव, एसओ सुभाष जखमोला, नेटवर्क इंजीनियर एसएस नेगी, ‘फायरमेन लतेश कुमार, रणजीत, नंदन, हयात ने आग पर काबू पाया।

नई टिहरी से सटे हुडोगी का जंगल जला

नई टिहरी :- जिला मुख्यालय से सटे बुडोगी गांव के जंगल में बीते शनिवार देर सायं आग लगने से जंगल धूंधूं कर ‘उठा। वन विभाग और फायर की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद आग को काबू किया। शनिवार देर सायं बुडोगी गांव के चीड़ के जंगल में अचानक आग लग गई, देखते-देखते आग ने विकराल रुप धारण कर लिया। मौके पर पहुंची वन विभाग और फायर विग्रेड की टीम को आग को काबू करने के लिए खासी मशकक्‍त करनी पड़ी।

जंगल में लगी आग से वन संपदा को भारी नुकसान पहुंचा है। डीएफओ कोको ने बताया कि आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। आग के कारण डे नुकासान का जयाजा लिया जा रहा है। कहा यदि कोई व्यक्ति जंगलों में आग लगाते हुए पकड़ा गया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाऐगी। उधर बीते रात को जाखणाधार ब्लॉक के मंदार गांव के बांज के जंगल में भी आग लग गई।

ग्रामीण अब्बल चंदरमोला ने बताया कि वनपंचायत टीम और ग्रामीणों ने जंगल में आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन आग ने विकराल रुप कर लिया। ग्रामीणों ने शासन-प्रशासन से जंगल में लगी आग को बुझाने के लिए हैली सेवा की मांग की है।

Share This Article
Follow:
Ankur Singh is an Indian Journalist, known as the Senior journalist of Hill Live
Leave a comment