Saturday, December 3, 2022
Home उत्तराखंड इधर उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन हुआ तो दूसरी तरफ मनीष सिसोदिया ने...

इधर उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन हुआ तो दूसरी तरफ मनीष सिसोदिया ने किया बड़ा दावा

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे के बाद उत्तराखंड के सियासी गलियारों में हड़कंप मच गया है। 4 महीने भी अपनी कुर्सी पर नहीं टिके तीरथ सिंह रावत ने जाते-जाते और भी कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं. वहीं, अपनी पार्टी की छवि को बचाने और राज्य में पार्टी का दबदबा बनाए रखने के लिए भारतीय जनता पार्टी का कहना है कि तीरथ सिंह रावत का इस्तीफा एक संवैधानिक मजबूरी थी, लेकिन विपक्ष ने इस तथ्य को पूरी तरह से नकार दिया है और बीजेपी और तीरथ सिंह रावत लगातार उन पर तीखा कटाक्ष कर रहे हैं.

उपचुनाव को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। हाल ही में उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने हौसले से कहा था कि वह उपचुनाव लड़ेंगे और जरूर लड़ेंगे। तय हुआ कि वह गंगोत्री सीट से चुनाव लड़ेंगे। लेकिन उसके बाद अचानक उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। आखिर क्या है इसके पीछे की वजह? इस मामले को लेकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने तीरथ सिंह रावत और भारतीय जनता पार्टी को तमाम सवालों से घेर लिया है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने तीरथ सिंह रावत और भारतीय जनता को तीखे सवालों और कटाक्ष से घेरते हुए ट्वीट किया कि भारतीय जनता पार्टी गंगोत्री सीट पर रावत जी के चुनाव लड़ने से डरती है. ऐसा इसलिए है क्योंकि बीजेपी की गंगोत्री सीट के सर्वे के मुताबिक आम आदमी पार्टी के कर्नल कोठियाल भारी मतों से जीत रहे थे और यही वजह है कि हार के डर से तीरथ सिंह रावत को भारतीय जनता पार्टी ने इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया. उन्होंने ट्वीट में लिखा, गुवाहाटी हाईकोर्ट के आदेश के मुताबिक उत्तराखंड में उपचुनाव करवाए जा सकते थे।

यानी तीरथ सिंह रावत जी ने संवैधानिक संकट के चलते इस्तीफा नहीं दिया है। बीजेपी के गंगोत्री सीट सर्वे में आम आदमी पार्टी के कर्नल अजय कोठियाल भारी मतों से जीत रहे थे और यही वजह थी कि तीरथ सिंह रावत जी को इस्तीफा देने के लिए कहा गया था. 11 बजे उन्होंने राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को अपना इस्तीफा सौंपा और अब भारतीय जनता पार्टी ने पुष्कर सिंह धामी को उत्तराखंड का नया मुख्यमंत्री चुना है।

Hill Livehttps://hilllive.in
Hilllive.in पर उत्तराखंड के नवीनतम और ब्रेकिंग हिंदी समाचार पढ़ें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here