उत्तराखंड में महंगाई की मार, पहले बिजली हुई महंगी अब बढ़ सकता है बस और टैक्सी का किराया

Ankur Singh

उत्तराखंड में सार्वजनिक यात्री वाहनों का किराया जल्द बढ़ सकता है। परिवहन विभाग राज्य परिवहन प्राधिकरण (एसटीए) में गैरसरकारी सदस्यों की नियुक्ति की प्रतीक्षा कर रहा है। नियुक्ति के बाद पहली बैठक में ही किराया बढोत्तरी समेत विभन्नि प्रस्तावों को एसटीए में लाया जाएगा। सूत्रों के अनुसार गैरसरकारी सदस्यों की नियुक्ति का प्रस्ताव सीएम कार्यालय को भेज दिया गया है। उम्मीद की जा रही है जल्द इसका गठन हो जाएगा।

किराया बढोत्तरी की सिफारिश कर चुकी है समिति

परिवहन कारोबारियों की मांग पर गठित किराया नर्धिारण समिति एक बार किराया बढाने की सिफारिश कर चुकी है। लेकिन पिछले साल अक्टूबर 2021 में एसटीए में इस कमेटी की रिपोर्ट को अधूरा मानते हुए रोक दिया गया था। तत्कालीन परिवहन आयुक्त दीपेंद्र चौधरी ने दून के आरटीओ दिनेश पठोई की अध्यक्षता में नई उच्च स्तरीय कमेटी बना दी थी। यह कमेटी तब से किराया वृद्धि की संभावनाओं का अध्ययन कर रही है। इसकी रिपेार्ट भी करीब करीब अंतिम रूप ले चुकी है। अब इंतजार केवल एसटीए की बैठक का है।

परिवहन सचिव डॉ. रंजीत कुमार सिन्हा ने बताया, किराया बढोत्तरी का विषय एसटीए के समक्ष आना है। इस वक्त गैरसरकारी सदस्यों का कार्यकाल खत्म हो गया है, इसलिए बैठक नहीं हो पा रही है। नए सदस्यों की नियुक्ति का प्रस्ताव उच्च स्तर को भेजा जा चुका है। एसटीए का गठन होते ही बैठक की जाएगी। इसमें किराय बढोत्तरी, चार धाम यात्रा के संबंध में कुछ अहम प्रस्तावों पर नर्णिय लिए जाने हैं।

Share This Article
Follow:
Ankur Singh is an Indian Journalist, known as the Senior journalist of Hill Live
Leave a comment