Tuesday, December 6, 2022
Home उत्तरकाशी पहाड़ के सैकड़ों गांवों में सर्दी-बुखार से पीड़ित लोग

पहाड़ के सैकड़ों गांवों में सर्दी-बुखार से पीड़ित लोग

कोरोना का डर सभी को सता रहा है। थोड़ा बुखार आते ही लोग तनाव में आ रहे हैं। कई बार, लोग खुद को संक्रमित मानते हैं और अस्पतालों के चक्कर लगाते हैं। इन दिनों, पहाड़ के कई गांवों में ग्रामीण बुखार से जूझ रहे हैं, लेकिन अस्पताल जाने से डरते हैं।

पहाड़ में न तो अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं हैं और न ही बुनियादी उपचार सुविधाएं आपको बताते हैं उत्तराखंड में नई टिहरी का मामला यहां के थौलाधार ब्लॉक के दो गांवों में ग्रामीण कई दिनों से बुखार से पीड़ित थे, लेकिन इसे सामान्य बुखार मानते हुए अस्पताल नहीं जा रहे थे।

जब गाँव के लोगों की जाँच की गई, तो दोनों गाँवों में 49 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। अब आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं कि स्थिति कितनी खतरनाक है। इसी तरह, रुद्रप्रयाग जिले के कंडारा घाटी, केदारघाटी, तुंगनाथ घाटी के दूरदराज के गांवों में सैकड़ों लोग बुखार से पीड़ित हैं।

पहाड़ में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले हैं, इसलिए हर जगह भय का माहौल है। गढ़वाल में उत्तरकाशी और कुमाऊँ में अल्मोड़ा, सैंपल में सर्वाधिक संक्रमण दर वाले दो जिले हैं।

उत्तरकाशी में 25 अप्रैल को, प्रति 100 सैंपल में सकारात्मक सकारात्मक दर 13 प्रतिशत थी। जो कि 7 मई को धीरे-धीरे बढ़कर 48 प्रतिशत हो गई। अल्मोड़ा में 26 अप्रैल तक यह दर 26 प्रतिशत थी, जो 7 मई को बढ़कर 54 प्रतिशत हो गई।

उत्तरकाशी में, पिछले दिन कोरोना के 266 मामले पाए गए। जबकि अल्मोड़ा में 247, पौड़ी में 203, पिथौरागढ़ में 208, बागेश्वर में 237, चमोली में 175, चंपावत में 322, रुद्रप्रयाग में 271 और टिहरी में 424 नए मामले सामने आए हैं।

संक्रमण की रोकथाम के लिए, पौड़ी में 15, उत्तरकाशी में 73, चंपावत में 27, चमोली में 6, टिहरी में 16, रुद्रप्रयाग में 6, पिथौरागढ़ में 9, अल्मोड़ा में 8 और बागेश्वर में 8 सम्‍मिलन क्षेत्र बनाए गए।

 

 

Hill Livehttps://hilllive.in
Hilllive.in पर उत्तराखंड के नवीनतम और ब्रेकिंग हिंदी समाचार पढ़ें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here