Raksha Bandhan 2023 Date: 30 या 31 किस दिन बांधें राखी ?

Ankur Singh

Raksha Bandhan 2023 Date: रक्षाबंधन हिन्दू धर्म का एक महत्वपूर्ण और प्रिय त्योहार है, जो भाई-बहन के प्यार का प्रतीक है। इस खास दिन को मनाकर भाई अपनी बहन के प्रति अपनी प्रेम और संकल्पना को प्रकट करते हैं। इस लेख में, हम आपको 2023 में रक्षाबंधन के शुभ मुहूर्त, महत्व, उसकी परंपराएं, और इस त्योहार की विशेषताओं के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

रक्षाबंधन 2023 में कब है? (raksha bandhan kab hai)

भाद्र मास की छाया के कारण लोग इस बात को लेकर अनिश्चित हैं कि इस साल 30 अगस्त को राखी बांधें या 31 अगस्त को। रक्षाबंधन का त्योहार 2023 में पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है, जो सावन महीने के अंतिम दिन पड़ता है। पूर्णिमा तिथि इस साल 30 अगस्त को सुबह 10:58 बजे शुरू होगी और 31 अगस्त, 2023 को सुबह 7:05 बजे तक रहेगी। भद्राकाल फिर भी पूर्णिमा के साथ एक साथ शुरू होगा। भद्राकाल में राखी बांधना भाग्यशाली नहीं माना जाता है। रात 9 बजकर 02 मिनट पर भद्राकाल शुरू हो जाएगा। भद्राकाल के समापन के बाद केवल इस परिस्थिति में राखी बांधी जाएगी।

पूजा विधि:

रक्षाबंधन के इस महत्वपूर्ण दिन, सुबह स्नान आदि की शुद्धता के साथ आपकी पूजा आरंभ करें।पूजा की सामग्री में राखी, अक्षता, कुमकुम, दीपक और पूजनीय वस्त्र शामिल होनी चाहिए। अपने भाई का मुख उत्तर करने के बाद, उसकी कलाई पर राखी बांधें और उसे तिलक लगाएं। इसके बाद, आरती करें और भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की पूजा करें, ताकि आपका परिवार सुख-शांति से जुड़े रहे।

रक्षाबंधन का महत्व

– यह त्योहार भाई-बहन के प्यार और बंधन की महत्वपूर्ण प्रतीक है।
– रक्षाबंधन का शब्दिक अर्थ होता है “रक्षा की बंधन”।
– इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती है, जिससे भाई उसकी सुरक्षा का आश्वासन देता है।

रक्षाबंधन की परंपराएँ:

– रक्षाबंधन का त्योहार पुरातन भारतीय संस्कृति में भी महत्वपूर्ण था।
– महाभारत के युद्ध में, कुंती ने अपने पुत्र कर्ण को रक्षाबंधन की दिशा में आग्रह किया था।
– राजपूताना में, युद्ध में सशक्ति दिखाने के लिए राखी का उपयोग होता था।

रक्षाबंधन की विशेषताएँ:

– त्योहार के इस मौके पर बहन अपने भाई को विशेष उपहार देती हैं।
– राखी के अलावा, मिठाई, सौभाग्य बतुआ, और आभूषण भी दिए जाते हैं।
– इस दिन पर परिवार एकजुट होकर खुशियाँ मनाता है और एक-दूसरे के साथ समय बिताता है।

रक्षाबंधन एक ऐसा त्योहार है जो भाई-बहन के प्यार और संबंध को मनोज्ञ बनाता है। इस मौके पर वे एक-दूसरे के प्रति आदर और स्नेह का इज़हार करते हैं और इसे अपनी विशेषता के साथ मनाते हैं।

Share This Article
Follow:
Ankur Singh is an Indian Journalist, known as the Senior journalist of Hill Live
Leave a comment