Tuesday, November 29, 2022
Home उत्तराखंड गढ़वाल में गुरु-शिष्य की परंपरा को कलंकित कर रहे हैं ऐसे शिक्षक,...

गढ़वाल में गुरु-शिष्य की परंपरा को कलंकित कर रहे हैं ऐसे शिक्षक, नशे में की छात्राओं से गंदी हरकत

पौड़ी गढ़वाल: सरकार बेटियों को पढ़ाने के लिए लगातार अभियान चला रही है, लेकिन जब बेटियां स्कूल में ही सुरक्षित न हों तो भला कोई अपनी बेटियों को स्कूल क्यों भेजेगा। मामला पौड़ी गढ़वाल के चौबट्टाखाल क्षेत्र का है। जहां जनता इंटर कॉलेज सुरखेत में पढ़ने वाली छात्राओं ने दो शिक्षकों पर नशे में धुत्त होकर छेड़छाड़ करने जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं। दोनों शिक्षकों की करतूत ने शिक्षा विभाग की जमकर फजीहत कराई। जिसके बाद दोनों आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

इन दोनों शिक्षकों पर नशे में धुत होकर लड़कियों के कमरे में घुसने और उनके साथ छेड़खानी करने का आरोप लगा है। शिक्षकों की इस हरकत को लेकर क्षेत्रवासियों में जबर्दस्त रोष था। ताजा अपडेट ये है कि दोनों शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया है। यहां को पूरा मामला भी बताते हैं। घटना बीते 4 मार्च की है। इंटर कॉलेज सुरखेत में एनएसएस कैंप चल रहा था। स्कूल के छात्रों के साथ ही छात्राएं भी एनएसएस कैंप में शामिल हुई थीं।

आरोप है कि रात के वक्त भौतिक विज्ञान प्रवक्ता रामेंद्र भंडारी और हिंदी प्रवक्ता सतीश चंद्र शाह शराब के नशे में धुत होकर लड़कियों के कमरे में पहुंच गए। दोनों को नशे में देख वहां मौजूद छात्राएं बुरी तरह डर गईं। आरोप है कि लड़कियों के कमरे में पहुंचने के बाद दोनों टीचरों ने छात्राओं के साथ छेड़खानी की।

मामले के तूल पकड़ने के बाद शिक्षा विभाग ने दोनों टीचरों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की है। पौड़ी के मुख्य शिक्षा अधिकारी ने हिंदी प्रवक्ता सतीश चंद्र शाह और भौतिक विज्ञान के प्रवक्ता डॉ. रामेंद्र भंडारी को निलंबित कर दिया है। मुख्य शिक्षा अधिकारी डॉ. आनंद भारद्वाज ने बताया कि दोनों शिक्षकों को खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय एकेश्वर में अटैच किया गया है। मामले की जांच जारी है।

Hill Livehttps://hilllive.in
Hilllive.in पर उत्तराखंड के नवीनतम और ब्रेकिंग हिंदी समाचार पढ़ें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here