Sunday, November 27, 2022
Home उत्तराखंड स्कूल में शिक्षक नहीं, CM तक पहुंची जिला पंचायत अध्यक्ष.... दूर हुई...

स्कूल में शिक्षक नहीं, CM तक पहुंची जिला पंचायत अध्यक्ष…. दूर हुई बड़ी परेशानी

पहाड़ में शिक्षकों की कमी का रोना लगभग हर स्कूल रो रहा है। कई बार हमें ऐसी खबरें देखने-सुनने को मिलती हैं। आखिर इन स्कूलों की शिकायत सुने तो सुने कौन। हालांकि कुछ जगह ऐसे जनप्रतिनिधि हैं, जो स्कूलों में बच्चों की शिक्षा को लेकर काफी सजग हैं। इन्हीं में से एक हैं टिहरी गढ़वाल की जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण। दरअसल टिहरी गढ़वाल के राजकीय इंटर कॉलेज अखोड़ी में अभिभावकों द्वारा स्कूल में शिक्षकों की कमी को लेकर धरना दिया जा रहा था।

Image: Sona sajwan arrange teachers for gic akhori

इस बात का पता जिला पंचायत अध्यक्ष को चला, तो उन्होंने बिना वक्त गंवाए सीएम तक इस बात को पहुंचाया। बीते 1 सितंबर से धरने पर बैठे आदर्श विद्यालय रा. इ. कालेज अखोड़ी के अभिभावक संघ के अध्यक्ष विक्रम घणाता और कुलदीप चौहान का धरना और आमरण अनशन आखिरकार खत्म हुआ। खुद मुख्यमंत्री धामी द्वारा अभिभावक संघ को आश्वासन दिया गया कि उनकी मांग जल्द से जल्दी पूरी कर दी जाएगी।

इसके बाद जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण धरनास्थल पर पहुंची और धरना समाप्त हो गया। आपको बता दें कि बीते 1 सितंबर से ग्यारह गांव हिंदाव के लोग लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे थे। स्कूल में गणित और रसायन विज्ञान के शिक्षकों की कमी पिछले 10 साल से चल रही थी। ऐसे में बच्चों के भविष्य को लेकर अभिभावक चिंतित थे। आखिरकार जिला पंचायत अध्यक्ष ने धरना समाप्त करवाया और अब अभिभावकों की मुख्य परेशानी का हल निकलेगा।

शनिवार को जनपद टिहरी के भ्रमण पर रहे सीएम धामी को मंच के माध्यम से जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण ने अवगत कराया और सीएम धामी ने तत्काल धरना और अनशन समाप्त करने को कहा। ये बात सच है कि पहाड़ के स्कूलों में शिक्षकों की कमी चल रही है। ऐसे में जागरूक जनप्रतिनिधि के होने से स्कूलों के दिन बहुर सकते हैं। आज ग्यारह गांव हिंदाव की जनता जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण की तारीफ कर रही है।

Hill Livehttps://hilllive.in
Hilllive.in पर उत्तराखंड के नवीनतम और ब्रेकिंग हिंदी समाचार पढ़ें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here