उत्तराखंड: सेना का जवान ने दोस्त की जान बचाने के लिए अपनी जान दांव पर लगा दी

Ankur Singh

असम राइफल्स के एक जवान ने अपने दोस्त की जान बचाने के लिए अपनी जान दांव पर लगा दी। चंपावत के बनबसा स्थित शारदा नहर में डूबने से जवान की मौत हो गई. जवान अपने दोस्त को बचाने के लिए नदी में कूद गया। इस दौरान दोस्त किसी तरह भाग निकला, लेकिन युवा नवीन जोशी नहीं बच सका। वे पानी की तेज धारा में बह गए। घटना के चौथे दिन गुरुवार को ग्रामीणों ने शारदा नहर में उनका शव उतराते देखा।

इसकी जानकारी ग्रामीणों ने पुलिस को दी। बाद में एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची और शव को नहर से बाहर निकाला। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसकी पहचान असम राइफल के जवान नवीन जोशी के रूप में की है। बता दें कि नवीन जोशी के पुत्र स्व. त्रिलोक चंद्र जोशी ग्राम गुडमी गाडीगोठ के रहने वाले थे। वह असम राइफल्स में तैनात थे। परिजनों ने बताया कि नवीन इन दिनों छुट्टी पर घर आए हुए थे, उन्हें अपनी यूनिट में वापस लौटना था, लेकिन कोरोना की वजह से वो घर पर ही रुक गए थे।

नवीन ने सोचा था कि कोरोना का कहर खत्म होते ही वह यूनिट में लौट आएंगे, लेकिन ये छुट्टियां उनकी जिंदगी की आखिरी छुट्टियां साबित हुईं। एक खबर के मुताबिक सोमवार की देर शाम वह अपने दोस्तों के साथ शारदा नहर के किनारे बैठे थे. तभी उसका दोस्त हर्ष बहादुर चंद संतुलन बिगड़ने से नहर में गिर गया। दोस्त को बचाने के लिए नवीन भी नहर में कूद गया।

इसके बाद उसने अपने दोस्त को बचाने की हर संभव कोशिश की। हर्ष बहादुर चंद किसी तरह तैरकर नहर से बाहर निकले, लेकिन दुर्भाग्य से नवीन बच नहीं सके। वह पानी की तेज धारा में गायब हो गया था। चार दिन से पुलिस उसकी लगातार तलाश कर रही थी। घटना के चौथे दिन गुरुवार को जवान का शव बरामद किया गया। पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। जरूरी कार्रवाई के बाद शव परिजनों के सपुर्द कर दिया जाएगा।

Share This Article
Follow:
Ankur Singh is an Indian Journalist, known as the Senior journalist of Hill Live
Leave a comment