Sunday, November 27, 2022
Home उत्तराखंड उत्तराखंड: कॉलेजों में छात्रसंघ चुनाव की मांग को लेकर कांग्रेस ने किया मौन व्रत,...

उत्तराखंड: कॉलेजों में छात्रसंघ चुनाव की मांग को लेकर कांग्रेस ने किया मौन व्रत, टावर पर चढ़ गए छात्र

उत्तराखंड के महाविद्यालयों में छात्रसंघ चुनाव कराने की मांग को लेकर बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल सहित कई कांग्रेस नेता व छात्र धरने पर बैठे। वहीं छात्रसंघ चुनाव की मांग को लेकर देहरादून के डीएवी पीजी कॉलेज गेट के समक्ष कुछ छात्र टावर पर चढ़ गए। जिससे कॉलेज प्रशासन और पुलिस के हाथ-पैर फूल गए। सूचना मिलने पर डालनवाला थाने से अतिरिक्त पुलिस बल बुलाया गया।

छात्रसंघ चुनाव कराने की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल के आह्वान पर प्रदेश के सभी महाविद्यालयों में छात्रों के लोकतांत्रित अधिकारों की बहाली और छात्रसंघ चुनाव कराए जाने की मांग को लेकर राजधानी के गांधी पार्क में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने  कांग्रेस पार्टी ने नेताओं और कार्यकर्ताओं ने मौन व्रत किया। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल, पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह सहित अन्य कार्यकर्ता मौन व्रत पर बैठे।

चुनाव 2022: रूद्रप्रयाग विधानसभा से कौन सा प्रत्याशी होगा जनता की पहली पसंद

मीडिया सलाहकार सुरेंद्र कुमार के हवाले से गोदियाल ने कहा कि भाजपा की राज्य सरकार की ओर से हिटलरशाही रवैया अपनाते हुए छात्रों के लोकतांत्रिक अधिकारों पर कुठाराघात किया जा रहा है।
राज्य के महाविद्यालयों में छात्रसंघ चुनावों पर प्रतिबंध लगाकर सत्ता के बल पर उनके अधिकारों पर अतिक्रमण करने का प्रयास किया जा रहा है। कांग्रेस पार्टी ने इसके विरोध में मौन व्रत रख विरोध दर्ज कराया है।

वहीं प्रदेश के महाविद्यालयों में छात्रसंघ चुनाव कराने की मांग को लेकर छात्र संघर्ष समिति डीएवी पीजी कॉलेज देहरादून के सभी छात्र संगठनों द्वारा गांधी पार्क के बाहर धरना भी दिया गया। इस दौरान कुछ छात्र टावर पर चढ़ गए। जिससे मौके पर हड़कंप मच गया। एमए प्रथम वर्ष का छात्र टावर पर चढ़ गया, जिसके बाद से ही भारी हंगामा शुरू हो गया।

छात्र संघर्ष समिति के आकिब अहमद ने बताया कि सभी छात्र पिछले 15 दिन से धरने पर बैठे हैं, लेकिन सरकार कोई सुध नहीं ले रही है। मजबूरन उन्हें सड़कों पर उतरना पड़ा। छात्र संघर्ष समिति के छात्र भविष्य में और उग्र आंदोलन करेंगे। जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी राज्य सरकार की होगी।

 

Hill Livehttps://hilllive.in
Hilllive.in पर उत्तराखंड के नवीनतम और ब्रेकिंग हिंदी समाचार पढ़ें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here