Tuesday, November 29, 2022
Home उत्तराखंड उत्तराखंड: शपथ लेने के बाद धामी कैबिनेट की पहली बैठक, युवाओं को...

उत्तराखंड: शपथ लेने के बाद धामी कैबिनेट की पहली बैठक, युवाओं को रोजगार देने को लेकर कई फैसले

नए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शपथ ग्रहण समारोह के बाद रात को कैबिनेट की पहली बैठक बुलाई और कई अहम मुद्दों पर मुहर लगा दी है. शपथ लेने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में सचिवालय में हुई कैबिनेट बैठक में 22 हजार पदों पर सरकारी नौकरी देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। साथ ही लगभग 20 हजार अनुमंडलीय कर्मचारियों को समान कार्य के लिए समान वेतन का लाभ देने के लिए कैबिनेट उप समिति गठित करने का निर्णय लिया गया.

रविवार शाम को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और मंत्रियों के शपथ ग्रहण के कुछ घंटों के भीतर सचिवालय में पहली कैबिनेट बैठक हुई. जिसमें सीएम धामी ने कई अहम फैसलों पर फैसले लेते हुए बेरोजगारों और प्रदेश के विकास को लेकर अपनी मंशा जाहिर की.  कैबिनेट ने बेरोजगार युवाओं को रोजगार मुहैया कराने और राज्य के विकास से जुड़े कई अहम फैसलों पर फैसला लिया.

कैबिनेट ने विभिन्न विभागों में 22 हजार से अधिक पदों पर नौकरी देने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी. इसके अलावा राज्य के हित और विकास को लेकर छह संकल्प प्रस्तावों पर भी निर्णय लिए गए. पुलिस विभाग में आरक्षकों के ग्रेड पे प्रस्ताव पर उप समिति गठित करने की स्वीकृति दी गई।

सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने बताया कि मंत्रिपरिषद की पहली बैठक में बेरोजगार युवाओं के हित में रोजगार और स्वरोजगार को लेकर अहम फैसले लिए गए. इसके साथ ही राज्य के विकास और जरूरतों के लिए अहम फैसले लिए गए हैं।

खाली पदों को भरकर युवाओं को रोजगार से जोड़ेगी सरकार : धामी
शपथ लेने के बाद सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि युवाओं और पार्टी की उनसे जो उम्मीदें हैं उन पर वह खरा उतरेंगे। सरकार विभागों में खाली पदों को भरेगी और युवाओं को रोजगार से जोड़ने का काम करेगी।

चुनाव पर कोई असर नहीं
आगामी विधानसभा चुनाव पर पांच साल में तीन मुख्यमंत्री बनाने के प्रभाव के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसका कोई असर नहीं होगा. उत्तराखंड में केंद्र और राज्य सरकार ने काफी काम किया है। उन्होंने कहा कि हम उन कार्यों को जनता के बीच ले जाएंगे. राज्य में कोविड के कारण लोगों की रोजी-रोटी बुरी तरह प्रभावित हुई है. इसे पटरी पर लाने का प्रयास सरकार का होगा। लोगों को राहत दी जाएगी।

मैं राज्य की समस्याओं से वाकिफ हूं
मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद पहली बार मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उनका जन्म एक फौजी परिवार में हुआ था. उन्होंने पांचवीं तक पढ़ाई सीमांत पिथौरागढ़ जिले में की। जबकि भारत-नेपाल सीमा क्षेत्र से सटा खटीमा उनका ऑफिस है। वह राज्य की समस्याओं से अच्छी तरह वाकिफ हैं।

विभागों में भरे जाएंगे खाली व बैकलॉग पद
सरकार सरकार के रूप में नहीं बल्कि लोगों के भागीदार के रूप में काम करेगी। उन्होंने कहा कि विभागों में खाली और बैकलॉग पदों को भरा जाएगा.

पूरी क्षमता से काम करने के लिए इतना बढ़ा कद
तीन राज्यमंत्रियों को कैबिनेट मंत्री बनाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि सब एक से एक काबिल हैं, सब अपनी पूरी क्षमता से काम कर पाएं इसके लिए उनका प्रमोशन किया गया है।आने वाले समय में इसका परिणाम देखने को मिलेगा।

Hill Livehttps://hilllive.in
Hilllive.in पर उत्तराखंड के नवीनतम और ब्रेकिंग हिंदी समाचार पढ़ें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here