उत्तराखंड: पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत बोले- मैं थक गया था, इसलिए एक नए ऊर्जावान व्यक्ति को बनाया गया सीएम

Ankur Singh

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दावा किया है कि उत्तराखंड में अधिकांश विकास योजनाएं सफल रही हैं। रावत यहां भाजयुमो द्वारा आयोजित रक्तदान शिविर में शामिल होने आए थे। शिविर में 32 लोगों ने रक्तदान किया। उन्होंने कहा कि 2022 का विधानसभा चुनाव बीजेपी और मौजूदा सीएम के नेतृत्व में लड़ा जाएगा।

भाजयुमो ने भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के शहादत दिवस पर बुधवार को रामलीला मैदान में रक्तदान शिविर का आयोजन किया। शिविर में पहुंचे पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार पिछले साढ़े चार साल से बेहतर काम कर रही है. कोविड काल में भाजपा संगठन द्वारा किया गया कार्य अत्यंत प्रशंसनीय है।

नेतृत्व परिवर्तन को लेकर रावत ने कहा कि साढ़े चार साल काम करने के बाद वे थक गए थे, इसलिए एक नए ऊर्जावान व्यक्ति को मुख्यमंत्री बनाया गया है. वे ऊर्जा के साथ बेहतर काम भी कर रहे हैं। मौजूदा सीएम के कार्यकाल के दौरान दायित्व धारियों को हटाने के सवाल पर रावत ने कहा कि यह पार्टी का आंतरिक मामला है।

इस दौरान रक्तदाताओं को सम्मानित भी किया गया। कार्यक्रम समन्वयक वासु शर्मा, विधायक हरभजन सिंह चीमा, महापौर उषा चौधरी, भाजयुमो जिला महासचिव प्रशांत पंडित, प्रदेश उपाध्यक्ष खिलेंद्र चौधरी, जिलाध्यक्ष शिव अरोड़ा, नगर अध्यक्ष मोहन बिष्ट, राम मेहरोत्रा ​​आदि मौजूद थे।

शायद मुझे कोई बड़ी जिम्मेदारी मिल जाए
पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि उनके पद से हटाने के पीछे केंद्रीय नेतृत्व कोई बड़ी जिम्मेदारी दे सकता है। कुंभ कोरोना जांच घोटाला मामले में कहा कि मुख्यमंत्री ने एसआईटी का गठन किया है। जांच में सब सामने आ जाएगा।

बुधवार को हल्द्वानी पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि विपक्ष ने कैसे स्वीकार किया कि कुंभ में कोरोना जांच में फर्जीवाड़ा हुआ है। एसआईटी जांच कर रही है। जांच के नतीजे आने दीजिए। सब साफ हो जाएगा।

Share This Article
Follow:
Ankur Singh is an Indian Journalist, known as the Senior journalist of Hill Live
Leave a comment