Tuesday, December 6, 2022
Home उत्तराखंड उत्तराखंड: एक बार फिर कोरोना को लेकर सख्ती शुरू, बिना मास्क मिले...

उत्तराखंड: एक बार फिर कोरोना को लेकर सख्ती शुरू, बिना मास्क मिले तो कटेगा चालान

कोविड के बढ़ते मामलों और कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन ने सरकार की टेंशन बढ़ा दी है। खतरे को देखते हुए प्रदेश सरकार ने सख्ती करने साथ ही राज्य में फिर से कोविड प्रतिबंधों की शुरुआत कर दी है। हरिद्वार प्रशासन ने भी बाहर से आने वाले यात्रियों और क्षेत्रवासियों के लिए गाइडलाइन जारी की है। यहां कोविड संबंधी नियमों का उल्लंघन करने वालों से पुलिस सख्ती से निपटेगी। शहर में जो लोग बिना मास्क के घूमते पकड़े जाएंगे उन पर जुर्माना लगाया जाएगा।

मास्क न पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने वालों से पांच सौ रुपये तक का चालान वसूला जा सकता है। ये जानकारी डीआईजी एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने दी। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के केस बढ़ने के बावजूद हरिद्वार में लोग नियमों की अनदेखी कर रहे हैं। ऐसा करने वाले लोगों को बख्शा नहीं जाएगा। कोविड नियम तोड़ने वालों के खिलाफ जिलेभर में अभियान चलेगा। जिले सहित हरकी पैड़ी और पिरान कलियर में पुलिस को पूरी तरह से चौकसी बरतने के निर्देश दिए गए हैं, क्योंकि यहां यात्री ज्यादा संख्या में रोजाना पहुंचते हैं। अभियान को सफल बनाने के लिए व्यापारी वर्ग का सहयोग लिया जाएगा।

सोमवार को हरिद्वार में रेलवे स्टेशन पर भी खूब सख्ती दिखाई दी। यहां बाहर से आने वाले यात्रियों की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट चेक करने के लिए विभाग की टीम पूरे दिन तैनात रही। रिपोर्ट न दिखाने वाले यात्रियों की कोविड जांच भी का जा रही थी। वहीं कोरोना के केस बढ़ने के बाद वैक्सीनेशन सेंटर पर भी लोगों की भीड़ बढ़ गई है। बता दें कि कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए केंद्र ने राज्यों में कड़े नियम लागू करने के निर्देश जारी किए हैं।

हरिद्वार में भी बाहर से आने वाले यात्रियों की जांच की जा रही है। यहां सोमवार को शाम चार बजे तक स्वास्थ विभाग की टीम ने 530 यात्रियों की जांच की। इनमें से किसी की भी रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव नहीं आई। स्वास्थ्य विभाग की टीम शाम 4 बजे के बाद भी रेलवे स्टेशन में मौजूद रही। यहां दूसरे राज्यों से आने वाले यात्रियों की जांच के लिए अभियान चल रहा है।

Hill Livehttps://hilllive.in
Hilllive.in पर उत्तराखंड के नवीनतम और ब्रेकिंग हिंदी समाचार पढ़ें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here