Tuesday, November 29, 2022
Home उत्तराखंड उत्तराखंड: पुलिस को चकमा देकर भागा पाकिस्तानी जासूस, 11 घंटे बाद हुआ...

उत्तराखंड: पुलिस को चकमा देकर भागा पाकिस्तानी जासूस, 11 घंटे बाद हुआ गिरफ्तार5 पुलिसकर्मियों को चकमा देकर सजा से पहले

हरिद्वार से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। रुड़की से फरार पाक नागरिक असद को 11 घंटे बाद एलआइयू ने आखिरकार गिरफ्तार कर लिया। पाक नागरिक असद पुलिस को चकमा देकर सुबह घर से फरार हो गया था। आरोपी सब इंस्पेक्टर और पांच पुलिसकर्मियों को चकमा देकर फरार हो गया था। आश्चर्य की बात यह है कि आरोपी पुलिस की निगरानी में था मगर उसके बावजूद भी वह पुलिस को चकमा देने में सफल हुआ और अपने घर से भाग गया। वह तो सही समय पर आरोपी को धर दबोचा और गिरफ्तार कर लिया गया।

अभियुक्त को पकड़ने के लिए जिले में चेकिंग अभियान भी चलाया गया था। इस पूरे मामले में पुलिस की लापरवाही भी सामने आई है। बता दें कि आरोपी असद अली 2010 में पासपोर्ट अधिनियम के मामले में पकड़ा गया था। असद अली लाहौर का निवासी था और उसको जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। वर्ष 2010 में पुलिस और खुफिया विभाग की टीम ने असद अली निवासी लाहौर, पाकिस्तान को जासूसी के शक में गिरफ्तार किया था। उसके पास से कई जगहों के नक्शे और आपत्तिजनक सामान भी प्राप्त हुआ था। इस मामले में पुलिस ने असद पर मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया था। यह पूरा मामला हाईकोर्ट में चल रहा था। करीब तीन साल जेल में रहने के बाद उसे जमानत मिल गई थी। बुधवार को हाईकोर्ट में इस मामले का निर्णय आना था।

असद बीते बुधवार की सुबह पुलिस को चकमा देकर भाग गया। दरअसल कोर्ट में निर्णय की तारीख करीब होने के कारण असद के घर पुलिस के कर्मचारी निगरानी कर रहे थे। असद ने घर से भागने की प्लैनिंग काफी पहले कर ली थी। वह घर से निकलने लगा तो पुलिस ने उसको रोक दिया। असद ने पुलिस को अपने चंगुल में फंसाते हुए कहा कि उसके बच्चे भूखे हैं और उसको अपने ससुराल से सिलिंडर लाना है। पुलिस भी उसकी बातों में आ गई और असद को जाने दिया। असद थोड़ी दूरी पर स्थित ससुराल पहुंचा और प्लान के मुताबिक वहां से कपड़े बदलकर फरार हो गया। जब असद बहुत देर तक आवास में नहीं पहुंचा तो पुलिस उसके ससुराल गई जहां से उसके गायब होने की खबर मिली तो पुलिस में हड़कंप मच गया।

पुलिस और खुफिया विभाग की टीम उसकी देर शाम तक तलाश करती रही। सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए, लेकिन उसका कोई पता नहीं चला। हादसे के 11 घंटे के बाद रात नौ बजे असद को एलआइयू के हेड कांस्टेबल देवेंद्र कुमार और उप निरीक्षक राजेंद्र आर्य ने रुड़की के भरत नगर क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया। असद अली को पुलिस के हवाले कर दिया गया है।इस पूरे मामले में पुलिस प्रशासन की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। खुफिया विभाग को उसके फरार होने का पहले से ही अंदेशा था। विभाग ने बकायदा पुलिस को अलर्ट भी किया था था। फिर भी पुलिस उसके बिछाए जाल में फंस गई। असद को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और इस पूरे मामले में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

Hill Livehttps://hilllive.in
Hilllive.in पर उत्तराखंड के नवीनतम और ब्रेकिंग हिंदी समाचार पढ़ें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here