उत्तराखंड: छुट्टी बिताकर ड्यूटी पर लौट रहे थे सूबेदार मनोहर भट्ट, भीषण हादसे में हुई मौत

Ankur Singh

पिथौरागढ़: पिथौरागढ़ में नायब सूबेदार मनोहर दत्त भट्ट को नम आंखों से अंतिम विदाई दी गई। नायब सूबेदार मनोहर दत्त का एक सड़क हादसे में निधन हो गया था। वह फर्स्ट नागा रेजीमेंट में तैनात थे। 45 वर्षीय मनोहर दत्त भट्ट का परिवार थल के चौकोड़ी क्षेत्र में रहता है। इन दिनों वो जम्मू-कश्मीर के ऊधमपुर में नायब सूबेदार के पद पर तैनात थे। 1 मार्च को मनोहर दत्त भट्ट छुट्टी पर अपने घर आए थे, लेकिन किसे पता था कि यह छुट्टियां उनकी जिंदगी की आखिरी छुट्टियां साबित होंगी। दुर्भाग्य से ऐसा ही हुआ।

बीते दिनों वह छुट्टी पूरी करके ड्यूटी पर वापस लौट रहे थे। इस बीच हल्द्वानी रेलवे स्टेशन की ओर जाते समय एक वाहन ने उन्हें टक्कर मार दी। इस हादसे में मनोहर दत्त गंभीर रूप से घायल हुए थे। उन्हें तुरंत ही सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

अस्पताल में इलाज के दौरान उनका निधन हो गया। गुरुवार को जवान का पार्थिव शरीर सैन्य सम्मान के साथ उनके घर लाया गया। जवान का पार्थिव शरीर घर पहुंचते ही परिजनों में कोहराम मच गया। पत्नी तारा देवी बेसुध होकर गिर पड़ीं। माता नारायणी देवी भी होश खो बैठीं। नायब सूबेदार मनोहर दत्त की दो बेटियां पूनम और करिश्मा हैं। अचानक हुए हादसे के चलते इन दोनों बेटियों के सिर से पिता का साया छिन गया। उन्हें रोता देख वहां मौजूद हर शख्स की आंखें नम हो गईं। हादसे के बाद परिजन गहरे सदमे में हैं। उन्हें अब भी यकीन नहीं हो रहा कि मनोहर दत्त अब इस दुनिया में नहीं रहे। गुरुवार को दोपहर बाद राम गंगा घाट पर सैन्य सम्मान के साथ Naib Subedar Manohar bhatt को अंतिम विदाई दी गई। क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों ने भी उनके निधन पर शोक जताया है।

Share This Article
Follow:
Ankur Singh is an Indian Journalist, known as the Senior journalist of Hill Live
Leave a comment