Saturday, December 3, 2022
Home उत्तराखंड जब नए-नवेले DM का हुआ सच से सामना, हाईवे टूटने पर पैदल...

जब नए-नवेले DM का हुआ सच से सामना, हाईवे टूटने पर पैदल पार करना पड़ा गदेरा

समस्त उत्तराखंड भारी बरसात की चपेट में आ रखा है और उत्तराखंड के सभी जिलों में बरसात लोगों की आफत बढ़ा रही है। चमोली जिला भी इससे अछूता नहीं रहा है। चमोली जिले में बीते कई दिनों से लगातार हो रही मूसलाधार बरसात के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त हो रखा है। कहीं पर भूस्खलन की कोई घटना हो रही है तो कहीं पर नदियों का जलस्तर बढ़ने से लोगों के सिर के ऊपर बड़ा खतरा मंडरा रहा है।

भूस्खलन के कारण अलग-अलग जगह सड़क मार्ग समेत बद्रीनाथ हाईवे बंद हो रखा है जिस वजह से वहां पर वाहनों को आवाजाही करने में भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। बता दें कि भारी बारिश के कारण बदरीनाथ हाईवे लामबागड़ स्लाइड जोन के पास बीती देर शाम से बंद हो रखा है। हाईवे की असलियत का सामना स्वयं चमोली के नवयुक्त डीएम को करना पड़ा। जी हां, हाइवे के बंद होने का खामियाजा चमोली के डीएम हिमांशु खुराना को भी भुगतना पड़ा। हाईवे बंद होने के कारण वे खुद लामबगड़ में फंस गए। उसके बाद उनको रात गेस्ट हाउस में गुजारनी पड़ी और आज सुबह डीएम ने पैदल चलकर गदेरा पार किया और दूसरी गाड़ी से गोपेश्वर पहुंचे.

 

चमोली जनपद में बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग मूसलाधार बरसात के चलते बीती देर शाम से ही लामबागड़ स्लाइड जोन के पास बंद हो रखा है और इसी कारण नवयुक्त डीएम हिमांशु खुराना बीती रात को लामबगड़ में फंस गए और आज सुबह डीएम पैदल ही गदेरा पार करते हुए अपनी गाड़ी से गोपेश्वर पहुंचे। बताया जा रहा है कि लामबागड़ स्लाइड जोन के पास उफान आने के कारण सड़क बह गई है जिस कारण हाईवे बाधित हो गया है और वहां पर वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लगी हुई है।

जानकारी मिली है कि आज सुबह से ही लामबगड़ में सड़क खोलने का काम शुरू किया गया है। बरसात के चलते पहाड़ी से मलबा आने का सिलसिला जारी है जिस कारण अधिकारियों का कहना है कि हाईवे खोलने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में वाहन चालकों को बरसात के रूकने तक का इंतजार करना पड़ सकता है।

Hill Livehttps://hilllive.in
Hilllive.in पर उत्तराखंड के नवीनतम और ब्रेकिंग हिंदी समाचार पढ़ें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here