SGRR विश्वविद्यालय में नई शिक्षा नीति पर आयोजित की गई कार्यशाला, विशेषज्ञों ने नई शिक्षा नीति के सुगम क्रियान्वयन व प्रभावी बिन्दुओं को किया रेंखाकित

Ankur Singh

देहरादून। श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के स्कूल आॅफ बेसिक एण्ड एप्लाइड साइंसेज की ओर से दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।

कार्यशाला के पहले दिन नई शिक्षा नीति-2020 (एन.ई.पी.-2020) के सुगम क्रियान्वयन की बात विशेषज्ञों ने जोर देकर कही। विशेषज्ञों ने कहा कि नई शिक्षा नीति को लागू कर विश्वविद्यालयों में सकारात्मक बदलाव लाए जा सकते हैं। इन बदलावों से छात्र-छात्राओं व विश्वविद्यालय दोनों को ही लाभ मिलेगा।

कार्यशाला में समग्र शिक्षा के साथ छात्र-छात्राओं के समग्र कौशल विकास के माॅडल को भी विशेषज्ञों ने रेखांकित किया।

शुक्रवार को कार्यशाला का शुभारंभ मुख्य वक्ता प्रो. डाॅ. ए.के. डोबरियाल, डीन स्कूल आॅफ लाइफ साइंसेज़, हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय, श्रीनगर, डाॅ अजय कुमार खण्डूड़ी, कुलसचिव, एसजीआरआर विश्वविद्यालय प्रो डाॅ कुमुद सकलानी, डायरेक्टर एकेडमिक व कार्यशाला संयोजक ने संयुक्त रूप से किया।

एसजीआरआर विश्वविद्यालय के कुलसचिव डाॅ अजय कुमार खण्डूड़ी ने कार्यशाला के मुख्य वक्ता प्रो. डाॅ एके डोबरियाल का स्वागत एवम् अभिनंदन किया। मुख्य वक्ता प्रो डाॅ एके डोबरियाल ने विश्वविद्यालयों में नई शिक्षा नीति को क्रियान्वित करने की बारीकियों को समझाया।

उन्होंने कहा कि हर डिग्री के साथ 30 घण्टे का समाजसेवा का एक लघु कोर्स एनएपी में अनिवार्य है। जो छात्र-छात्राओं को ज्ञानवान बनाने के साथ साथ जिम्मेदार नागरिक व आकर्षक व्यक्तित्व भी प्रदान करता है।

कुलसचिव ने कहा कि नेशनल एजुकेशन पाॅलिसी के अन्तर्गत नए पाठ्यक्रमों की संरचना की गई है, यह बेहद प्रभावी एवम् छात्र-छात्रों के लिए लाभकारी है। नई शिक्षा नीति रेखांकित करती है कि किस प्रकार के कोर्सेज विश्वविद्यालयों में संचालित किए जाने चाहिए। वर्तमान समय की मांग के अनुकूल विश्वविद्यालयों को क्या क्या बदलाव करने चाहिए एवम् पाठ्यक्रमों की सरंचना किस प्रकार की जाए।

कार्यक्रम संयोजक प्रो डाॅ कुमुद सकलानी ने कहा कि यूजीसी नई शिक्षा नीति के अन्तर्गत इस बात पर जोर डाल रही है कि महत्वपूर्णं सोच, अच्छा संचार कौशल विश्वविद्यालय सुनिश्चिित किए जाने चाहिए।

एसजीआरआर विश्वविद्यालय एक प्रगतिशील विश्वविद्यालय है, विश्वविद्यालय ने प्रभावी रूप से नई शिक्षा नीति को लागू कर दिया है।

इस अवसर पर डाॅ अरुण कुमार, डीन स्कूल आॅफ बेसिक एण्ड एप्लाइड सांइसेज, एवम् कार्यक्रम के सह संयोजक, डाॅ सौरभ गुलेरी, विभागाध्यक्ष, वनस्पति विज्ञापन एवम् कार्यशाला के आयोजन सचिव आदि ने भी विचार व्यक्त किए। मंच संचालन श्रिया कोटनाला ने किया। इस अवसर पर श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के सभी विभागों के संकायाध्यक्ष, विभागाध्यक्ष, फेकल्टी उपस्थित थे।

Share This Article
Follow:
Ankur Singh is an Indian Journalist, known as the Senior journalist of Hill Live
Leave a comment