spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
Homeउत्तराखंडश्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में मनाया गया विश्व सिज़ोफ्रेेनिया दिवस

श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में मनाया गया विश्व सिज़ोफ्रेेनिया दिवस

spot_img

श्री महंत इन्दिरेश अस्प्ताल के मनोरोग विभाग की ओर से शनिवार को विश्व सिज़ोफ्रेेनिया दिवस मनाया गया। इस अवसर पर मेडिकल छात्र-छात्राओं ने पोस्टर बनाकर मानसिक स्वास्थ्य से जुडे़ विभिन्न विषयों को रेखांकित किया व जनजागरूकता की अलख जगाई

सेलीब्रेटिंग दि पाॅवर आफ कम्यूनिटी काइंडनेस थीम पर आयोजित प्रतियोगिता में 35 मेडिकल छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया

उत्कृष्ट पोस्टर बनाने वाले नर्सिंग की छात्रा प्रिया, झिलमिल एवम् आकांक्षा कोएसजीआरआर इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल एण्ड हैल्थ साइंसेज के प्राचार्य डाॅ आर.के वर्मा ने पुरस्कृत किया शनिवार को श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में विश्व सिज़ोफ्रेेनिया दिवस कार्यक्रम का शुभारंभ श्री गुरु राम राय इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल एण्ड हैल्थ साइंसेज के प्राचार्य डाॅ आर. के. वर्मा व मनोरोग विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ शोभिग गर्ग ने संयुक्त रूप से किया.

इस अवसर पर छात्र-छात्राआंे ने अलग अलग कार्यक्रम प्रस्तुत गए का बिलेगौर है कि दुनियाभर में सिज़ोफ्रेेनिया बीमारी के मरीज़ बढ़ रहे हैं। इस बीमारी के प्रभाव की वजह से मरीज़ अपने आप में बडबड़ाना, सोचने समझने व व्यवहार के तरीके में बदलाव आ जाता है।

मरीज़ में शक करने की प्रवृति बढ़ जाती है व अपने आप में बड़बडाता रहता है व तरह तरह के भ्रम करने लगता है। विशेषज्ञों ने जोर देकर कहा कि सिज़ोफ्रेेनिया का उपचार सम्भव है। मरीज़ के परिवारजनों का दायित्व है कि वे कुशल मनोचिकित्सक से राय लेकर मरीज़ का उपचार करवा सकते हैं।

कार्यक्रम के दौरान मानसिक रोगियों को भी इस मुहिम में जोड़ा गया। मनोरोग विशेषज्ञों ने विभिन्न माॅडल्स व जानकारियों क माध्यम से मानसिक रोगों व उनके उपचार के प्रति जागरूक किया.

प्राचार्य डाॅ आर.के वर्मा ने छात्र-छात्राओ का प्रोत्साहन किया व मानसिक रोगों के आधुनिक उपचार के बारे में महत्वपूर्णं जानकारियां सांझा की। डाॅ शोभित गर्ग ने कहा कि देश दुनिया में मानसिक रोगों के बढ़ते मामले चिंताजनक हैं।

मानसिक मरीजों व उनके परिवार के सदस्यों को मानसिक बीमारी के लक्षण और उसकी रोकथाम के उपयों के बारे में सजग रहना चाहिए। उन्होने मानसिक रोगों से बचाव व रोकथाम के महत्वपूर्णं टिप्स दिए। उन्होने कहा कि आम दिनचर्या में थोड़ा परिवर्तन लाकर मानसिक रोगों के चक्र को तोड़ा जा सकता है।

इस अवसर पर आयोजित पोस्ट प्रतियोगिता में डाॅ रोबिना मक्कड़, डाॅ डोरछम ख्राइम, डाॅ निधि जैन श्रीमती रेचल प्रसाद ने जज की भूमिका निभाई।

spot_img
Pankaj Singh
Pankaj Singh
Pankaj Singh is a Journalist at Hill Live.
RELATED ARTICLES
spot_img
Uttarakhand: Sex racket business in hotel, about 20 boys and girls caught naked

देहरादून में वॉट्सऐप पर लड़कियों की फोटो दिखाकर सेक्स का कारोबार

0
देहरादून: देहरादून के थाना रायवाला पुलिस के हाथ बड़ी उपलब्धि लगी है। उन्होंने क्षेत्र में होटल की आड़ में देह व्यापार के धंधे का...

रुद्रप्रयाग में ग्रामीणों ने रोका गढ़वाल सांसद का रास्ता, घेराव कर सुनाई ‘खैरी’

0
गुप्तकाशी-गढ़तरा मोटरमार्ग की दुर्दशा से परेशान परेशान ग्रामीणों ने आज गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत का घेराव किया. गढ़वाल सांसद नवोदय विद्यालय जाखधार की...

रूद्रप्रयाग : गुलदार ने बनाया 3 साल के मासूम को निवाला

0
रूद्रप्रयाग। रुद्रप्रयाग जनपद के बचणस्यू पट्टी के गहडखाल गांव में घर के आंगन में खेल रही 3 साल की मासूम को गुलदार ने बनाया...

अशासकीय माध्यमिक शिक्षक संघ रुद्रप्रयाग व चमोली जिले के शिक्षकों की संयुक्त बैठक में...

0
गौचर। अशासकीय माध्यमिक शिक्षक संघ रुद्रप्रयाग व चमोली जिले के शिक्षकों की संयुक्त बैठक शिक्षक संघ के संरक्षक व प्रधानाचार्य शिव सिंह रावत की...

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने परीक्षाओं का संशोधित परीक्षा कैलेंडर किया जारी

0
हरिद्वार– उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की ओर से परीक्षाओं का संशोधित परीक्षा कैलेंडर जारी किया गया है। आयोग ने कौशल विकास एवं सेवायोजन विभाग,...